Aye Paak Rooh |Sister Romika Masih & Brother Gautam Kumar |Masihi Geet 2018 |Lyrics –

मेरी सासों में आ, मेरे दिल में समां,

मेरी आँखों में आ, मेरी बन जा जुबान,

हर रस्ते पे तू, साथ चलना मेरे,

बन के खुशबू जिस्म से महिकना मेरे,

ऐ पाक रूह…. ऐ पाक रूह,

ऐ पाक रूह…. ऐ पाक रूह,

  1. मुझे हर शक्श से, प्यार करना सिखा,
    मुझे हर शक्श को, माफ करना सिखा,
    मुझे हर शक्श से, प्यार करना सिखा,
    मुझे हर शक्श को, माफ करना सिखा,
    तू बताए जो मुझको, मैं वो कर सकूं,
    तू सिखाए जो मुझको, मैं वो कर सकूं,
    ऐ पाक रूह…. ऐ पाक रूह,
    ऐ पाक रूह…. ऐ पाक रूह,
  2. मेरी हर आरज़ू, में हो चेहरा तेरा,
    मेरी सोचो पे हो, सदा पहरा तेरा,
    बिन तेरे इक कदम, भी ना चल पाऊंगा,
    गिर गया मैं अगर, ना संभल पाऊंगा,
    बिन तेरे इक कदम, भी ना चल पाऊंगा,
    गिर गया मैं अगर, ना संभल पाऊंगा,
    ऐ पाक रूह…. ऐ पाक रूह,
    ऐ पाक रूह…. ऐ पाक रूह,
  3. हर जगह हर घड़ी, तेरा एहसास हो,
    मेरे दिल में सदा, बस तेरी प्यास हो,
    तू मेरा चैन है, तू मेरी हर ख़ुशी,
    मेरा विशवास तू, तू मेरी ज़िन्दगी,
    तू मेरा चैन है, तू मेरी हर ख़ुशी,
    मेरा विशवास तू, तू मेरी ज़िन्दगी,
    ऐ पाक रूह…. ऐ पाक रूह,
    ऐ पाक रूह…. ऐ पाक रूह,